अजमल नियाज़ी

  • अजमल नियाज़ी

    हम अकेले ही सही शह्र में क्या रखते थे दिल में झांको तो कई शह्र बसा रखते थे अब किसे…

    Read More »