अख्तर लखनवी

  • अख्तर लखनवी

    अब दर्द का सूरज कभी ढलता ही नहीं है। ये दिल किसी पहलू भी संभलता ही नहीं है। बे-चैन किए…

    Read More »