Month: September 2015

अज्मल अज्मली

क़्ते-सफ़र क़रीब है बिस्तर समेट लूँ बिखरा हुआ हयात का दफ्तर समेट लूँ फिर जाने हम मिलें न मिलें इक ज़रा रुको मैं दिल के आईने में ये मंज़र …

अज्ञात शायर

मेरी जाँ गो तुझे दिल से भुलाया जा नहीं सकता मगर ये बात मैं अपनी ज़ुबां पर ला नहीं सकता तुझे अपना बनाना मोजिब-ए-राहत समझकर भी तुझे अपना बना …

अजीज आजाद

जन्म: 21 मार्च 1944, बीकानेर, (राजस्थान) || निधन: 20 सितंबर 2006 प्रकाशित कृतियाँ: उम्र बस नींद-सी, भरे घर का सन्नाटा (दोनो ग़ज़ल-संग्रह), हवा के बीच (कविता-संग्रह), कोहरे की धूप (कहानी-संग्रह), टूटे हुए लोग (उपन्यास), गायक रफ़ीक …