Hala

ठुकराओ अब के प्यार करो मैं नशे मैं हूँ | शाहिद कबीर |Main Nashe Mein Hoon |Jagjit Singh

ठुकराओ अब के प्यार करो मैं नशे मैं हूँ
ठुकराओ अब के प्यार करो मैं नशे मैं हूँ
जो चाहो मेरे यार करो मैं नशे मैं हूँ

अब भी दिला रहा हूँ यकीने वफ़ा मगर,
अब भी दिला रहा हूँ यकीने वफ़ा मगर,
मेरा न ऐतबार करो मैं नशे में हूँ

गिरने दो तुम मुझे मेरा सागर संभाल लो

गिरने दो तुम मुझे मेरा सागर संभाल लो,
इतना तो मेरे यार करो मैं नशे में हूँ

मुझको क़दम-क़दम पे बहकने दो वाइजों,
मुझको क़दम-क़दम पे बहकने दो वाइजों,
तुम अपना कारोबार करो मैं नशे में हूँ

फिर बेखुदी में हद से गुज़रने लगा हूँ,
फिर बेखुदी में हद से गुज़रने लगा हूँ,
इतना न मुझसे प्यार करो मैं नशे में हूँ

Tags

Related Articles

Leave a Reply